दिल्ली में 90% ICU बेड हुए फुल, केजरीवाल की निगाहें मोदी सरकार पर टिकी

24

राजधानी दिल्ली में जिस रफ़्तार से कोरोना के मामले बढ़े हैं, उसे देख प्रशासन के परेशानियां बढ़ गईं हैं। इस बीच खबर आ रही है कि, दिल्ली में 90 प्रतिशत ICU बेड फुल हो चुके हैं, इसकी जानकारी खुद डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने दी है। राजधानी में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मामलों को देखते हुए मनीष सिसोदिया ने कहा है कि, केंद्र सरकार से दिल्ली को 250 ICU बेड की पहली खेप मिलने वाली है। जिसके बाद 500 ICU बेड और मिलेंगे। इस वक़्त दिल्ली में 26,000 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज अभी होम आइसोलेशन में हैं।

इसे भी पढ़ें: 69 हजार शिक्षकों की भर्ती मामले में शिक्षा मित्रों को लगा झटका, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाया ये बड़ा फैसला

डिप्टी सीएम का कहना है कि, फ़िलहाल दिल्ली सरकार का लॉक डाउन लगाने का कोई इरादा नहीं है और न ही कोरोना से लड़ने के लिए लॉक डाउन कोई उपाय है। कोरोना से लड़ने का एक ही उपाय है और वो है मेडिकल मैनेजमेंट है। दिल्ली में 16 हज़ार बेड हैं, जिसमे से पचास प्रतिशत बीएड खाली हैं। वहीं राज्य में अभी 26,000 से अधिक कोरोना संक्रमित मरीज होम आइसोलेशन में हैं।

मनीष सिसोदिया ने दिल्ली के दुकानदारों को आश्वस्त कराते हुए कहा कि, दिल्ली में लॉक डाउन लगाने का सरकार का कोई इरादा नहीं हैं, दुकानदार को डरने की कोई जरूरत नहीं है। सरकार चाहती है कि, दुकाने खुली रहें, वहीं अगर जरूरत पड़ी तो कुछ बाज़ारों को जरूर सील किया जा सकता है। इसका एक प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जा चुका है लेकिन राज्य में किसी भी तरह का कोई भी लॉक डाउन नहीं लगेगा।

उन्होंने कहा था कि, राजधानी में जरूर 90 प्रतिशत ICU बेड फुल होने पर सरकार को चिंता हुई थी, जिसके बाद इस विषय पर केंद्र सरकार से बात हुई और उन्होंने हमे 750 बेड देने की बात की है। जैसे ही ये बेड आ जाएंगे हमे सफर कोई चिंता नहीं रहेगी। सर्कार संक्रमण रोकने के लिए अच्छी तरह से काम कर रही है।

इसे भी पढ़ें: सुजीत पांडेय की मौजूदगी में डीके ठाकुर ने संभाला लखनऊ पुलिस कमिश्नर का कार्यभार